उत्तर प्रदेश

UP में आज बड़ा रेल हादसा,भारत में अब तक हुए बड़े रेल हादसे के बारे में जनिए

रायबरेली  । मालदा टाउन से नयी दिल्ली जा रही न्यू फरक्का एक्सप्रेस (14003) के इंजन और नौ डिब्बे बुधवार की सुबह उत्तर प्रदेश में रायबरेली के पास पटरी से उतर गए जिसमें कम से कम सात लोगों की मौत हो गई जबकि करीब 35 यात्री घायल हो गए। रेल मंत्री पीयूष गोयल ने हादसे की जांच के आदेश दिए हैं।  यह दुर्घटना बुधवार की सुबह करीब छह बजे रायबरेली के निकट हरचन्दपुर के बाबापुर के करीब हुई।

ये अकेला रेल हादसा नहीं है। देश में आए दिन रेल हादसे होते हैं। जिनमें कई लोगों की जान जा चुकी है। हैरानी की बात तो ये है कि लंबे वक्त से हो रहे ये हादसे कम होने की बजाय लगातार बढ़ रहे हैं। जिनके पीछे अनेक कारण हैं। चलिए आपको बताते हैं कि साल 2000 के बाद देश में किन जगहों पर किन कारणों से रेल हादसे हुए-

– 3 दिसंबर 2000

हावड़ा-अमृतसर मेल पटरी से उतरकर मालगाड़ी पर चढ़ी, 46 की मौत, 130 घायल।

– 22 जून 2001

केरल के कोझिकोड के नजदीक मंगलौर-चेन्नई एक्सप्रेस हुई हादसे का शिकार, 40 लोगों की मौत।

– 12 मई 2002

नई दिल्ली से पटना जा रही श्रमजीवी एक्सप्रेस जौनपुर में पटरी से उतरी, 12 की मौत।

– 4 जून 2002

कासगंज एक्सप्रेस यूपी में एक बस से टकराई, 34 की मौत।

– 10 सितंबर 2002

कोलकाता- नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस बिहार में पटरी से उतरी, 120 की मौत।

साल 2003 के बाद

सौ. अमर उजाला

– 15 मई 2003

पैसेंजर ट्रेन में स्टोव फटने से लगी आग, 40 की मौत, 50 घायल।

– 22 जून 2003

करवार-मुम्बई सेंट्रल होलीडे स्पेशल गाड़ी के तीन डिब्बे इंजन सहित पटरी से उतरे, 53 की मौत, 25 घायल।

– 3 जून 2003

दक्षिण-मध्य महाराष्ट्र में एक्सप्रेस ट्रेन के तीन डिब्बे पटरी से उतरे,18 की मौत।

– 2 जुलाई 2003

आंध्र प्रदेश में एक रेलगाड़ी के दो डिब्बे इंजन सहित एक पुल के नीचे से गुजर रहे वाहनों पर गिरे,22 की मौत।

– 16 जून 2004

मत्स्यगंधा एक्सप्रेस महाराष्ट्र में एक पुल पार करते समय पटरी से उतरी, 20 की मौत, 60 घायल।

– 28 मई 2010

पश्चिम बंगाल में रेल पटरियों में तोड़फोड़ के कारण ज्ञानेश्वरी एक्सप्रेस के 13 डिब्बे पटरियों से उतरे, 148 की मौत।

Related Articles