राष्ट्रीय

साध्वी प्रज्ञा रक्षा मंत्रालय की संसदीय समिति में,कांग्रेस ने उठाए बड़े सवाल

लखनऊ। बीजेपी की भोपाल से सांसद और विवादों का नेतृत्व करने वाली साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को रक्षा मंत्रालय की कमेटी में बड़ी जगह मिली है। उन्हें रक्षा मंत्रालय की कमेटी का सदस्य चुना गया है। डिफेंस मामलों की इस 21 सदस्यीय कमेटी का नेतृत्व रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह कर रहे हैं।

कमेटी में चेयरमैन राजनाथ सिंह के अलावा फारुक अब्दुल्ला, ए. राजा, सुप्रिया सुले, मीनाक्षी लेखी, राकेश सिंह, शरद पवार, जेपी नड्डा आदि सदस्य शामिल हैं। अनर्गल और विवादित टिप्पणियों के कारण पहचानी जाने वाली साध्वी प्रज्ञा को इतनी अहम जिम्मेदारी देने पर विपक्ष ने सवाल उठाया है।

कांग्रेस पार्टी ने इसे दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है। मध्यप्रदेश सरकार में कांग्रेस के मंत्री पीसी शर्मा ने इसकी निंदा की है, उन्होंने कहा कि भाजपा की कथनी और करनी में फर्क है। उन्होंने कहा कि पीएम ने कहा था कि उनपर कार्रवाई करेंगे, लेकिन ऐसा नहीं हुआ।

कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने ट्वीट किया कि ‘ये देश का दुर्भाग्य ही कहा जायेगा कि आतंक फैलाने का आरोप झेल रही सांसद को सुरक्षा संबंधी कमेटी का सदस्य बना दिया। मोदी जी इन्हें “मन से माफ नही कर पाए”, लेकिन, देश की सुरक्षा जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर जिम्मेदारी दे दी। इसीलिए तो, मोदी है तो मुमकिन है।’

साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर 2008 मालेगांव विस्फोट मामले में आरोपी हैं। फिलहाल वो जमानत पर रिहा है। 2019 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने कई विवादित बयान दिये थे। लेकिन एक बयान से तो खुद पीएम मोदी भी नाराज हो गए थे। साध्वी प्रज्ञा ने नाथुराम गोडसे को देशभक्त बताया था, जिसके बाद विपक्ष ने काफी बवाल काटा था। पीएम मोदी को भी तब कहना पड़ा था कि वो उन्हें कभी भी मन से माफ नहीं कर पाएंगे। पार्टी की तरफ से उन्हें कारण बताओ नोटिस दिया गया था।

Related Articles