राष्ट्रीय

अयोध्या राम मंदिर मामले पर सुप्रीम कोर्ट का नया सवाल,साबित करें कि ‘मंदिर तोड़कर बनायी मस्जिद’

अयोध्या राम मंदिर मामले में हो रही सुनवाई में अब सुप्रीम कोर्ट ने एक नया सवाल पूछ लिया है.सुप्रीम कोर्ट का कहना है कि वादी साबित करें कि मंदिर को तोड़कर मस्जिद बनाई गयी है. इसे लेकर  राम जन्मभूमि-बाबरी मस्जिद भूमि विवाद के वकील सीएस वैद्यनाथन ने अपने जवाब में कहा कि मस्जिद का निर्माण किसी खाली या खेती की भूमि पर नहीं किया गया था. जबकि दूसरी सदी में मंदिर को तोड़कर इसे बनाया गया था. इसको साबित करने की तस्वीरें भी मौजूद हैं.

supreme-court-ayodhya

भले ही रामलला विराजमान के वकील मस्जिद के खंभों पर देवता की तस्वीर और मूर्तिकला के होने के आधार पर वहां मंदिर होने का दावा कर रहे हैं लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को यह साबित करने को कहा कि आखिर इसके क्या सबूत हैं कि राम मंदिर के अवशेष पर मस्जिद का निर्माण किया गया? जस्टिस डीवाई चंद्रचूड़ ने कहा कि सदियों से हम देखते आ रहे हैं नदी किनारे सभ्यता बसती है और उजड़ती है। पुराने अवशेषों पर नए ढांचे खड़े किए जाते हैं।

अखिल भारतीय क्षत्रिय महासभा के अध्यक्ष ‘राजा’ राजेंदर सिंह ने सुप्रीम कोर्ट में आवेदन दाखिल कर यह दावा किया है कि वह भगवान राम के वंशज हैं। सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर कर राजेंदर सिंह ने कहा है कि वह अवध के राजा रामचंद्र के वंशज हैं।

Related Articles