बिहार

बिहार राज्य के 39 बीएड कॉलेजों की मान्यता समाप्त होगी !

रिपोर्ट -रामबालक राम

पटना । राज्य के 39 बीएड कॉलेजों की मान्यता रद्द की जाएगी। राजभवन के लगातार निर्देश के बाद भी आदेश के अनुपालन में विफल रहने वाले कॉलेजों को कार्रवाई के दायरे में लाने का फैसला लिया गया। राजभवन की ओर से 26 अक्टूबर को कॉलेज इंस्पेक्टरों की बैठक में पूरे मामले की समीक्षा की गई।
इसमें पाया गया कि अबतक 109 बीएड कॉलेजों की ओर से नियमित तौर पर कक्षाओं के फोटोग्राफ बीएड पोस्ट एप पर अपलोड कराने में सफलता नहीं दर्ज की गई है। इस मामले पर पहले भी कुलपतियों की बैठक में साफ किया गया था कि अगर बीएड कॉलेज अपने स्तर पर फोटोग्राफ उपलब्ध नहीं कराते हैं तो उन पर कार्रवाई होगी। इस बैठक के बाद बीएड कॉलेजों को सुधार का समय दिया गया। इसके बाद भी कॉलेजों की ओर से कार्रवाई नहीं होने को राजभवन ने गंभीर माना है।

नियमों का नहीं किया गया पालन
कुलाधिपति सह राज्यपाल लालजी टंडन ने अपने आदेश में संबंधित विश्वविद्यालयों को चिह्नित बीएड कॉलेजों की संबद्धता रद्द करने की प्रक्रिया शुरू करने का निर्देश दिया है। कुलाधिपति ने माना है कि इन बीएड कॉलेजों ने एनसीटीई व विश्वविद्यालय के संबद्धता नियमों का पालन नहीं किया है। हाईकोर्ट ने भी बीएड कॉलेजों को आधारभूत संरचना, शिक्षक-छात्र संख्या और वेतनमान सहित पदों की विवरणी को कॉलेज की वेबसाइट पर प्रदर्शित करने का आदेश दिया था। पर अमल नहीं हुआ।

गड़बड़ी की सूचना राजभवन को दें
राजभवन ने अपने आदेश में साफ कर दिया है कि कक्षाओं के आयोजन की तस्वीर वेबसाइट पर प्रदर्शित नहीं करने वाले बीएड कॉलेज छात्रों के अधिकारों के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। कुलाधिपति लालजी टंडन ने माना कि जिन 39 बीएड कॉलेजों को असंबद्ध करने का फैसला लिया गया है, उन्होंने छात्रों को धोखा दिया है। कक्षाओं का आयोजन न किया जाना एक बड़ा मामला है। इससे उनकी शैक्षणिक गुणवत्ता प्रभावित होती है।

Related Articles