उत्तराखंड

DM की अनोखी पहल ने पेश किया लोगों के लिए उदाहरण, बनी प्रेरणास्त्रोत

चमोली। डीएम की अनोखी पहल- एक ओर जहां आम आदमी अपने बच्चें के भविष्य को लेकर सरकार तंत्र और सरकारी षिक्षा व्यवस्था से दूर होता जा रहा है। वहीं डीएम चमोली स्वाति भदौरिया ने अपने बच्चे का दाखिला आंगनबाडी में करवाकर एक उदाहरण पेश किया है कि सरकारी व्यवस्था में भी संभावनाएं हैं।

डीएम की अनोखी पहल-

डीएम चमोली ने अपने बच्चे का दाखिला आंगनबाडी में करवाने के बाद कहा कि ये उनके स्वंय के लिए स्वतः प्रेरणा थी कि जिस सरकारी व्यवस्था को हम आम जनता के लिए सरकारी व्यवस्था के तहत प्रदान कर रहे हैं, उसका हम स्वयं हिस्सा बनें और ये व्यवस्थाओं को नजदीकी से जानने का एक माध्यम भी हेै।

साथ ही उन्होंने कहा कि वो अपने बच्चें का दाखिला कराने के बाद स्वयं भी काफी खुश हैं और उनका बच्चा भी अन्य बच्चों के बीच खेल कूद कर काफी खुश नजर आया, साथ ही डीएम ने आम जन मानस से अपील की कि लोग सरकारी व्यवस्थाओं के प्रति अपना नजरिया बदलें और सरकार की लाभकारी योजनाओं का लाभ उठायें।

वहीं जिलाधिकारी बच्चे के आंगनबाडी केंद्र में दाखिला के बाद लोगों में भी काफी सकारात्मक प्रतिक्रिया आयी है। आंगनबाडी कार्यकर्ताओं का कहना है कि सभी बच्चों की तरह जिलाधिकारी का बच्चा भी सभी बच्चों के साथ क्रिया कलापों में हिस्सा ले रहा है व सभी बच्चे साथ में मिलजुल कर खेल रहे हें व साथ में सब का भोजन हो रहा हें

Related Articles