उत्तर प्रदेश

मेरठ रेस्त्रां में मारपीट: भाजपा पार्षद गिरफ्तार,दारोगा लाइन हाजिर

मेरठ ।  राजधानी लखनऊ के गोमतीनगर स्थित रेस्त्रां में एएसपी राजेश सिंह द्वारा मारपीट-हंगामा करने का मामला अभी शांत नहीं हुआ था कि मेरठ में भी एक ऐसा ही मामला प्रकाश में आया है। यहां कंकरखेड़ा बाइपास स्थित भाजपा पार्षद के ब्लैक पैपर रेस्टोरेंट में नशे में धुत्त दरोगा और उसकी महिला मित्र अधिवक्ता ने जमकर गुंडागर्दी दिखाई। महिला मित्र ने दरोगा की सरकारी रिवॉल्वर रेस्टोरेंट मालिक पर तान दी। विरोध करने पर मालिक और उसके कर्मचारियों से मारपीट की गई। करीब बीस मिनट तक रेस्टोरेंट में हंगामा चलता रहा। घटना का वीडियो वहां मौजूद किसी सख्स ने सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। भाजपा पार्षद गिरफ्तार, दारोगा भी लाइन हाजिर वायरल हो रहे वीडियो में भाजपा पार्षद दरोगा को थप्पड़ों से पीटते दिखाई दे रहा है। वह पुलिसकर्मी को धक्का देकर गिरा देता है। घटना की जानकारी मिलते ही कंकरखेड़ा पुलिस ने पहुंचकर दोनों को पकड़ लिया। उनका मेडिकल परीक्षण कराया गया है। दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के विरुद्ध तहरीर दी है। दरोगा को पीटने वाले होटल मालिक बीजेपी नेता पर महिला की तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज हुआ है। बीजेपी पार्षद पर डकैती, छेड़छाड़ की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने बीजेपी पार्षद गिरफ्तार कर लिया है। बताया जा रहा है कि दरोगा नशे की हालत में महिला मित्र के साथ होटल पहुंचा था। बीजेपी पार्षद ने वर्दीधारी दरोगा की पिटाई की थी। कैंट विधायक और बीजेपी नेताओं ने पूरी रात थाने में पंचायत की। इसके बाद पीटने वाले दरोगा पर भी कार्रवाई करते हुए उसे लाइन हाजिर कर दिया गया। यह दरोगा परतापुर थाना क्षेत्र की एक चौकी पर तैनात बताया गया है। उसकी महिला मित्र अधिवक्ता रोहटा रोड कंकरखेड़ा की रहने वाली है। शाम दोनों ने शराब पी और रेस्टोरेंट गए जानकारी के मुताबिक, शुक्रवार देर शाम दोनों ने शराब पी और फिर बाइपास स्थित ब्लैक पैपर रेस्टोरेंट पर पहुंच गए। यह रेस्टोरेंट नगर निगम के वार्ड-40 से भाजपा पार्षद जिटौली निवासी मनीष चौधरी का है। उस वक्त कई परिवार खाना खा रहे थे। इसलिए कर्मचारियों ने दोनों को रेस्टोरेंट के पीछे वाले हिस्से में खाली पड़ी कुर्सियों पर बैठा दिया। रेस्टोरेंट मालिक मनीष चौधरी ने बताया कि दरोगा और उसकी मित्र पूरी तरह नशे में धुत थे। कुर्सियों पर बैठते ही उन्होंने गाली-गलौंच शुरू कर दी। दरोगा ने वर्दी का रौब दिखाया। दरोगा की अंटी में लगी पिस्टल को देखकर कर्मचारियों ने पास जाने तक की हिम्मत नहीं की। महिला मित्र ने तान दी दरोगा की सरकारी पिस्टल मनीष चौधरी ने बताया कि सूचना पर वह मौके पर पहुंचे तो दरोगा की महिला मित्र उनसे उलझ गई और गाली-गलौंच करने लगी। उन्होंने विरोध किया तो महिला मित्र ने दरोगा की सरकारी पिस्टल निकालकर उन पर तान दी और मारपीट की।

मनीष चौधरी ने तुरंत दौराला सीओ और कंकरखेड़ा इंस्पेक्टर को फोन पर सूचना दी। कंकरखेड़ा थाने की पुलिस रेस्टोरेंट में पहुंची और दोनों को उठाकर थाने पर ले आई। यहां सीओ पंकज कुमार सिंह ने दोनों से बंद कमरे में पूछताछ की। सीओ ने बताया कि दोनों को मेडिकल परीक्षण के लिए भेज दिया गया है। एक तहरीर मनीष चौधरी की तरफ से दी गई है। जबकि दूसरी तहरीर महिला अधिवक्ता की तरफ से आई है जिसमें रेस्टोरेंट मालिक-कर्मचारियों पर छेड़छाड़ और चेन छीनने का प्रयास करने का आरोप लगाया गया है। उन्होंने बताया कि दोनों पक्ष के आरोपों पर जांच चल रही है। विवादित है महिला अधिवक्ता, पुलिस ने देखी फुटेज कंकरखेड़ा पुलिस ने रेस्टोरेंट पहुंचकर सीसीटीवी कैमरे की फुटेज देखी। पता चला कि यहां कैमरे की फुटेज स्टोरेज का सिस्टम ही नहीं है। कैमरे की डीवीआर खराब पाई गई। हालांकि वहां मौजूद ग्राहकों ने इस पूरे हंगामे की वीडियो अपने मोबाइलों से बनाई है। पुलिस ने ऐसी कई वीडियो कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। जिस महिला अधिवक्ता पर पिस्टल तानने और हंगामा करने का आरोप लगा है, वह पहले भी विवादित और चर्चित रही है। इस महिला पर संपत्ति कब्जाने के कई आरोप लगे हैं। कचहरी में तोड़फोड़ की घटना में भी इस महिला का नाम सामने आया था। हालांकि पुलिस पूरे मामले की पड़ताल कर रहे है।

 

Related Articles