ब्रेकिंग न्यूज़लखनऊ जोन

लखनऊ ट्रैफिक पुलिस में घूसखोरी का खेल,ऑडियो वायरल

लखनऊ । शहर के आम नागरिकों द्दारा ट्रैफिक पुलिस पर वसूली करने जैसे आरोप हमेशा से लगाते आए हैं, यूपी की राजधानी लखनऊ में तैनात ट्रैफिक पुलिस के एक होनहार दीवान जोगिंदर का लेन-देन का ऑडियो तेजी से वायरल हो रहा है । जिसमें दीवान जोगिंदर अपने सीनियर टीआई शंशि प्रकाश द्दारा चौराहे पर अवैध बस,टैम्पो स्टैड़ चलाने को लेकर डेली के 5000 रूपयें टीएसआई 1000 रूपयें जोगिंदर के लेन-देन की बात वायरल हो रही है।

अॉडियो वायरल होने के बाद से पूरे पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है। अधिकारी भी सकते में हैं। ऑडियो में लेन-देन बड़ा मामला समाने आया है, लेकिन उसमें जो बातें बोली गई हैं, वो बड़ी हैं। यही वजह है कि ट्रैफिक पुलिस के सिपाहियों में पिछले दो दिनों से यह मामला चर्चा का विषय बना हुआ है ।

वायरल ऑडियो की बातचीत

भैया अपनी गाड़ी चल रही है ध्यान रखना,आजकल गाडिया सीज कर दी जा रही है । भैया संजय पैसा लेकर आया कि नही, जोगिंदर हा मुलाकात हो गय़ी, कितना पैसा दिया है । 5000 रूपयें टीआई के 1000 रूपयें मेरे । किता दिया है,छ हजार जब भी गाड़ी पकड़ी जाय नाम बता देना।नाम तो पता है हा पता है ।
दूसरा लेन –देन की बातचीत
ये बताओ जोगिंदर पैसे मांग रहे है, हा पैसे भेजवा दिया है, सजय लेकर गयें पैसा, 20 तारिख को छुटटी चले गये, 23,24 में फोन किया गाव में हूं । 28 किसी को दे दिया पैसा जोगिंदर गांव से आयें बोले तुरन्त पैसे चाहिए गाड़ी वाला बोला दो या तीन को मिल जायेगा, एक दिन का पैसा ना मिलने पर एक गाड़ी सीज बाद में लेकर छोड़ा, अभी मैने संजय को 6000 हजार रूपये जोगिंदर को देने के लिए भेजा,किता भेजा छ हजार जो पाण्डे जी को देते थे वहीं इनको देते है पहले डेली बारह हजार देते थे । इस समय जैसा आ रहा है वैसा दे रहै है। 10000 टीआई का रहता था,दो जोगिंदर हमराही का डेली का रहता था । इस समय है कहा वेब के पास है वहीं देने गया है । टीआई कौन है हमको नही पता यहीं जोगिंदर है डन्डा डाले है। ये कौन है दीवान है ।

दोनों पर होगी कार्रवाई
ऑडियो वायरल होने के बाद ट्रैफिक पुलिस के दीवान जोगिंदर से बातचीत करके जानने की कोशिश की कि आखिर विभाग में चल क्या रहा है ? सभी सिर्फ एक ही बात बोले- छोटों से लेकर बड़ों तक सभी एक दूसरे के विषय में सब कुछ जानते हैं, लेकिन कोई किसी के खिलाफ कुछ बोलता नहीं।

ऐसा करना भले ही सत्य का साथ देना हो, लेकिन यह पुलिस विभाग के अनुशासनात्मक सिद्धांतों के सख्त खिलाफ है।’ इधर, अधिकारियों का कहना है कि ऑडियो में लगाए आरोप अगर सत्य पाए गए तो दोनों पर कठोर कार्रवाई की जाएगी।  दीवान जोगिंदर की एक फोटो भी वायरल हो रही हैं जिसमें दीवान जोगिॉदर  दरोगा की टोपी लगायें है ।देखना है ऐसे लपारवाह और घूसखोर पुुुुलिसकर्मीयों  पर कार्यवाही कब होगी या लीपापोती कर मामला को रफादफा कर दिया जायेगा  ।

 

Tags

Related Articles