प्रयागराज जोन

राजा भैया के पिता सहित 11 लोगों को DM के आदेश पर हाउस अरेस्ट

लखनऊ । उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में कुंडा से बाहुबली विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया के पिता और बद्री रियासत के राजा उदय प्रताप सिंह को नजरबंद कर दिया गया है। डीएम के आदेश पर उदय प्रताप सिंह सहित 11 लोगों पर हाउस अरेस्ट की कार्रवाई की गई है। यह भी कहा गया है कि राजा भैया के पिता आज शाम 5:00 बजे से कल रात 9:00 बजे तक अपने बद्री महल में नजरबंद रहने वाले हैं।

वहीं हनुमान मंदिर पर भंडारे के कार्यक्रम को भी जिलाधिकारी ने निरस्त कर दिया है, जिसकी नोटिस भी पुलिस ने भदरी राजमहल में चस्पा कर दिया है। राजा उदय प्रताप सिंह ने हनुमान मंदिर पर भंडारा करने की परमिशन देने की गुहार लगाई थी।

बता दे कि जिस हनुमान मंदिर पर भंडारे की बात की बात राजा उदय प्रताप सिंह ने की थी उसके पास से ही मोहर्रम का जुलूस भी निकलता है जिसके चलते इलाके का सौहार्द खतरे में पड़ सकता था। एक यह बड़ा कारण है कि 3 सालों से लगातार जिला प्रशासन इसी बात के चलते हनुमान मंदिर पूजा-पाठ और भंडारे की अनुमति नहीं दे रहा है

बता देगी राजा उदय प्रताप सिंह एक बंदर की पुण्यतिथि पर भंडारे का आयोजन करते हैं। हनुमान मंदिर पर एक बंदर की मौत हो गई थी जिसके बाद से राजा उदय प्रताप सिंह यह भंडारा करते हैं। इस हनुमान मंदिर पर मोहर्रम के दिन हनुमान पाठ और भंडारे का आयोजन होता है।

पिछले 3 सालों से जिला प्रशासन इस कार्यक्रम पर रोक लगाते हुए राजा भैया के पिता और उनके समर्थकों को नजरबंद करते हुए भंडारा का आयोजन नही करने देता है।
दरअसल मोहर्रम के दिन ही 2005 में बंदर को गोली मार दी गई थी। जिसके बाद से इलाके के लोग बंदर की पुण्यतिथि पर भंडारे का आयोजन करते हैं। 2015 से राजा भैया के पिता ने मंदिर पर पूजा-पाठ को भव्य रूप दे दिया। इसके बाद दो समुदाय में टकराव देखते हुए जिला प्रशासन ने 2016 में इस आयोजन पर रोक लगा दी थी।

Tags

Related Articles