धर्म

जानिये कब है सर्वपितृपक्ष अमावस्या ,नवरात्रि का शुभांरभ कब से है शुरू

नई दिल्ली । सोमवार और मंगलवार दोनों दिन सर्व पितृ अमावस्या मनाई जा रही है। यह दिन पितरों को विदाई देने का दिन है। वही पंडित दिवाकर त्रिपाठी के अनुसार पितृविसर्जन, सर्वपितृ श्राद्ध महालय 8 और 9 अक्टूबर को होगा क्योंकि 8 अक्टूबर दिन सोमवार को दिन में 10 बजकर 47 मिनट के बाद अमावस्या तिथि लग जायेगी जो 9 अक्टूबर दिन मंगलवार को दिन में 09:10 बजे तक ही रहेगी। और इसके साथ शुरू हो जाएगा महालया।

महालया बंगालियों का एक ऐसा पर्व है जो नवरात्रि की शुरुआत को दर्शाता है। वही इस दिन रात में दुर्गा मां के मंदिर में मां दुर्गा की पूजा की जाती है। जहां इसके बाद 10 अक्टूबर से नवरात्र शुरू हो जाएंगे। वही ज्योतिषाचार्य एवं वास्तुविद विभोर इंदूसुत ने बताया कि शास्त्रों के अनुसार यदि पहला नवरात्र सोमवार या रविवार को होता है तो मां दुर्गा हाथी पर सवार होकर आती हैं। जानिये कब है नवरात्रि की तिथि – 10 अक्टूबर बुधवार – घट स्थापन व मां शैलपुत्री पूजा, मां ब्रह्मचारिणी पूजा 11 अक्टूबर बृहस्पतिवार – मां चंद्रघंटा पूजा 12 अक्टूबर शुक्रवार – मां कुष्मांडा पूजा 13 अक्टूबर शनिवार – मां स्कंदमाता पूजा 14 अक्टूबरर रविवार – पंचमी तिथि सरस्वती आह्वाहन 15 अक्टूबर सोमवार – मां कात्यायनी पूजा 16 अक्टूबर मंगलवार – मां कालरात्रि पूजा 17 अक्टूबर बुधवार – मां महागौरी पूजा, दुर्गा अष्टमी, महानवमी 18 अक्टूबर बृहस्पतिवार – नवरात्री पारण 19 सितम्बर शुक्रवार – दुर्गा विसर्जन, विजय दशमी बतादें की नवरात्रि की इस पावन पर्व पर मन भी शुद्ध हो जाता है। जहां पूजा पाठ करके लोग अपनी मनोकामना को पूढ़ करते है। पूजा से आपका मन प्रसन्न रहता है। माँ दुर्गा के नौ दिन की नवरात्री का पर्व बहुत ही प्रसालित पर्व है। दुर्गा माँ के नौ रूपों के बारे में नवरात्रि में संछिप्त विवरण दिया गया है। जिसकी देश भर में लोग हर्षोउल्लास पूर्वक पूजा करते है।

Related Articles