उत्तर प्रदेश

पेंशन बहाली की मांग को लेकर कर्मचारियों ने विधानसभा घेरी,भारी पुलिस बल तैनात,सरकारी सिंहासन हिला

लखनऊ । पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर लखनऊ में इकट्ठा हुए कर्मचारियों ने सोमवार को विधानसभा का घेराव किया, और जमकर नारेबाजी की। पेंशन बहाली मंच के बैनर तले प्रदर्शन कर रहे कर्मचारियों ने सरकार को धमकी दी कि अगर उनकी मांगें न मानी गई तो सरकार परिणाम भुगतने के लिए तैयार रहे ।
कर्मचारी पूरे प्रदेश से इकट्ठा होकर लखनऊ के ईको गार्डन में महारैली किया। हालांकि, इसे चुनावी सीजन में सरकार पर दबाव बनाने की रणनीति के तौर पर देखा जा रहा है। सुरक्षा के लिए भारी पुलिस बल तैनात किया गया है।

पेंशन बहाली मंच के अध्यक्ष डॉ. दिनेश चंद्र शर्मा ने कहा कि न्यू पेंशन स्कीम की राशि शेयर मार्केट में लगाई जाती है। इसमें न्यूनतम पेंशन की कोई गारंटी न होने से शिक्षकों और कर्मचारियों का भविष्य अंधकारमय है।

वहीं, मंच के संयोजक हरिकिशोर तिवारी ने कहा कि अब आर-पार की लड़ाई लड़ी जाएगी। अगर एक अप्रैल 2005 के बाद भर्ती हुए कर्मचारी के साथ कोई हादसा होता है, तो सामाजिक सुरक्षा के नाम पर उसके परिवार को कोई सुविधा नहीं मिलती। प्रदेश और देश को चलाने में कर्मचारियों, शिक्षकों, इंजीनियरों और अधिकारियों की विशेष भूमिका है, पर प्रदेश में उनकी उपेक्षा की जा रही है। डिप्लोमा इंजीनियर्स महासंघ के महासचिव जीएन सिंह ने कहा कि 24 हजार से ज्यादा इंजीनियर कार्यक्रम में हिस्सा ले रहे हैं। अगर अब भी सरकार नहीं चेती तो हड़ताल करने से भी नहीं चूकेंगे।

Related Articles