ज़रा-हटके

अपनों ने किया पराया,भाई ने घर से निकाला, महिला जिगर के टुकड़ों को लेकर घर से चली गई बहन

उन्नाव। उत्तर प्रदेश के उन्नाव जिले में लॉकडाउन में भाई ने बहन और उसके बच्चों का बोझ उठाने से इनकार कर दिया तो महिला अपने जिगर के टुकड़ों को रिक्शे में बैठाकर घर से निकल पड़ी। महिला ने रिक्शा भी खुद ही खींचा। उन्नाव जिले के सफीपुर स्थित मंदिर पर पहुंची तो लोगों ने उसे भोजन व पानी दिया।

लोगों ने एसडीएम को जानकारी दी तो उन्होंने समस्या का समाधान कराने का आश्वासन दिया।सफीपुर तहसील क्षेत्र के वजीरगंज गांव निवासी घसीटे की पुत्री शिवदेवी का विवाह 10 वर्ष पहले फतेहपुर ब्लाक के गांव हरसिंघपुर मजरा जाजामऊ निवासी दीपक के साथ हुआ था।

एक साल पूर्व झगड़ा होने पर पति ने उसे घर से निकाल दिया। शिवदेवी अपनी बेटी दीपांशी (8), दीपांशु (6) व शिवांशु (2) के साथ अपने मायके भाई के यहां आ गई। तब से वह यहीं मायके में थी।

Related Articles