ज़रा-हटके

ठेले वाले को सिपाही से जूस का 40 रुपया मांगना पड़ा गया महंगा,काट दिया 100 रुपये का चालान

आखिरकार उसके दिल में वर्दी वालों के लिए पैदा हुई सहानुभूति ने दम तोड़ ही दिया

गोरखपुर । कोरोना संक्रमण के कारण लंबे समय तक चले लाक डाउन से अभी वह पूरी तरह उबर भी नहीं पाया था कि बुधवार को खाकी के रौद्र रूप ने उसे हिला कर रख दिया ।
उसकी खता बस इतनी थी कि उसने दो गिलास जूस के पैसे उन खाकी वर्दी वालों से मांग लिया जो अब तक उसकी हिफाजत का भरोसा देते चले आ रहे थे।मामला कोतवाली थाना क्षेत्र के बैंक रोड का है जहां आज काफी दिनों बाद जयप्रकाश ने जूस की दुकान इसलिए लगाई ताकि अब तक दूसरों के घरों से आने वाले खाने पर विराम लगे और उसके घर का चूल्हा मुद्दतों बाद जल सके।
दो गिलास जूस के ₹40 मांगने की सजा उसे चालान के ₹100 की रकम जमा करके मिली।
हुआ यह कि दोपहर के समय कोतवाली थाने में तैनात सिपाही महेंद्र यादव अपने साथ एक दूसरे सिपाही को लेकर बैंक रोड पहुंचा और उसने जयप्रकाश से दो गिलास जूस देने को कहा जूस पीकर जब सिपाही आगे बढ़ा तो जयप्रकाश ने उससे पैसे की मांग कर दी। गुस्साए और झल्लाए सिपाही ने उसको पैसा तो दे दिया लेकिन उसे अंजाम भुगतने की बात कह कर आगे बढ़ गया ।

इसके बाद लगभग 4:30 बजे बेनीगंज पुलिस चौकी पर तैनात एक दरोगा जी के साथ आकर सिपाही ने आखिरकार उस गरीब ठेले वाले का मास्क न पहनने पर चालान करा ही दिया और इसके साथ ही लाक डाउन के दौरान वर्दी वालों के लिए उसके दिल में पैदा हुई सहानुभूति ने दम तोड़ दिया।

Related Articles