टीवी शो ‘कौन बनेगा करोड़पति 10’ (केबीसी) को मंगलवार को पहला करोड़पति मिल गया। उन्होंने एक करोड़ रुपए जीते और सात करोड़ का सवाल सुनकर उन्होंने खेल छोड़ दिया था। बाद में जब उन्होंने अमिताभ के कहने पर इस सवाल का जवाब का अंदाजा लगाकर दिया तो यह सही निकला।

अब उन्होंने एक इंटरव्यू में बताया है कि वे जीती हुई एक करोड़ की रकम का उपयोग कहां करने वाली हैं। बिनीता ने कहा ‘मेरा बेटा बहुत गुणी है और डॉक्टरी की पढ़ाई कर रहा है। जब वो पढ़ाई पूरी करके प्रैक्टिस करने के लिए तैयार होगा तो मैं इस रकम से उसके लिए क्लिनिक खोलूंगी।’

बता दें कि सोमवार के एपिसोड में अमिताभ ने बिनीता की दुखभरी दास्तां जानी थी। बिनीता ने बताया कि कम उम्र में उनकी शादी हो गई थी। सब बढ़िया चल रहा था। पति अक्सर कारोबार के सिलसिले में बाहर जाया करते थे। 15 साल पहले ऐसे ही जब एक बार वो कारोबार के लिए पड़ौसी राज्य गए तो लौटे ही नहीं। उनका इंतजार आज तक बिनिता और उनके दो बच्चों के परिवार को है।

बिनीता ने बताया कि उनका अंदाजा है कि उनके पति नार्थ ईस्ट में फैले टेरेरिज्म का शिकार हुए। अब वे ट्यूशन पढ़ा कर जीवन को आगे बढ़ा रही हैं।

दो अक्टूबर को प्रसारित होने जा रहे सप्तकोटि एपिसोड में बिनीता ने सात करोड़ के सवाल का सामना किया। पचास लाख के सवाल का सामना करते हुए उनके पास मौजूद एकमात्र लाइफलाइन का भी उपयोग किया।

बता दें कि केबीसी के इस सीजन की शुरुआत चार सितंबर को हुई थी। अब तक इस सीजन में किसी प्रतिभागी ने एक करोड़ रुपए का स्तर नहीं छुआ है।

बिनीता से पहले इस सीजन में भागलपुर के टीटीई सोमेश कुमार चौधरी और गुजरात के ग्राफिक डिजाइनर संदीप सावलिया ने 25-25 लाख रुपए का अधिकतम पुरस्कार जीता है।

केबीसी के पिछले सीजन में कोई भी प्रतिभागी सात करोड़ का पुरस्कार नहीं जीत सका था। जमशेदपुर की अनामिका मजूमदार ने एक करोड़ रुपए का पुरस्कार जीता था। सात करोड़ के प्रश्न का उत्तर नहीं पता होने के कारण उन्होंने क्विट कर लिया था।