खाना -खजानाराजनीति

मायावती ने योगी सरकार पर कसा तंज कहा-लॉकडाउन के बीच लोगों को पेट भरने की समस्या पर ध्यान दें

लखनऊ:  कोरोना के कहर ने पूरे देश को लॉकडाउन कर दिया है. जिसके चलते घरों से बाहर निकलना मुश्किल हो गया है. देश के 138 करोड़ आबादी घरों में कैद हो गए हैं. प्रधानमंत्री ने मंगलवार को देश के संबोधन में 14 अप्रैल तक लॉकडाउन करने को कहा था, जिसके बाद पूरा देश लॉकडाउन हो गया. लेकिन लोगों को खाना और जरूरी सुविधाएं मुहैया कराना भी सरकार के लिए किसी चुनौती से कम नहीं है.

बसपा सुप्रीमो मायावती

देशवासियों की चिंता करते हुए बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट कर कहा कि देश की 130 करोड़ गरीब और मेहनतकश जनता पर 21 दिनों के लॉकडाउन वाली पाबन्दियों को कड़ाई से लागू करने के बाद खासकर लोगों का पेट भरने अर्थात उनकी रोटी-रोजी की समस्या को दूर करने के लिए केन्द्र व राज्य सरकारों द्वारा राहत पैकेज
की व्यवस्था बहुत ही जरूरी है. इसपर सरकार को तुरंत ध्यान दें.

साथ ही इस देशबंदी में प्राइवेट सेक्टर के लॉकडाउन को लेकर उन्हें दी गई विभिन्न रिआयतों के साथ-साथ वहां काम करने वाले लोगों को भी महीने का वेतन दिलाने की व्यवस्था केन्द्र व राज्य सरकारों को सुनिश्चित करनी चाहिए. लोगों से भी अपील है कि वे सरकारी निर्देशों का अनुपालन करें.

Related Articles