अन्तर्राष्ट्रीय

POK जनसंहार को साबित करने के लिए पुख्ता सबूत जुटाना मुश्किल

इस्लामाबाद। अंतरराष्ट्रीय न्यायालय (आईसीजे) में पाकिस्तान के वकील ने कहा है कि किसी राष्ट्र के हाथों हो रहे जनसंहार को साबित करने के लिए पुख्ता सबूत जुटाना मुश्किल है। पाकिस्तानी वकील ने कश्मीर मुद्दे को संयुक्त राष्ट्र न्यायालय में ले जाये जाने की इमरान खान सरकार की कोशिशों के बीच यह दलील दी है। बहुचर्चित कुलभूषण जाधव मामले में आईसीजे में पाकिस्तान का पक्ष रखने वाले वकील खावर कुरैशी ने पाकिस्तान के एक न्यूज चैनल से कहा कि जनसंहार को साबित करना काफी मुश्किल है। कुरैशी ने एक प्रश्न के उत्तर में कहा कि जनसंहार को साबित करने के लिए सबसे मौलिक बात ठोस सबूत जुटाना है और किसी राष्ट्र के हाथों हो रहे जनसंहार को साबित करना बेहद मुश्किल है।

पाकिस्तान ने कश्मीर मुद्दे को आईसीजे में ले जाने की धमकी दी है। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री कश्मीर मामले में दुनिया के कई देशों से संपर्क कर चुके हैं। गौरतलब है कि जम्मू कश्मीर को विशेष दर्जा देने वालेअनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधानों को समाप्त करने और जम्मू कश्मीर को दो केन्द्र शासित प्रदेशों में बांटने के भारत सरकार के निर्णय के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच संबंध बेहद तल्ख हो गए हैं।

Related Articles